कृष्णा जन्माष्टमी 2021 शुभ मुहूर्त, कौन सी राशि को मिलेगा लाभ, राशिफल कृष्ण जन्माष्टमी

Krishna Janmashtami 2021: श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पावन पर्व इस वर्ष 30 अगस्त को देशभर में मनाया जाएगा। यह त्यौहार विश्व स्तर पर महत्व रखता है क्योंकि विदेशी नागरिकों सहित कई भारतीय, जो भगवान में विश्वास करते हैं और विदेशों में बसे हुए हैं, इस दिन को समान उत्साह के साथ मनाते हैं।

कृष्णा जन्माष्टमी 2021 शुभ मुहूर्त

5248 वां श्री कृष्ण जयंती 

Krishna Janmashtami 2021
दिन सोमवार, 30 अगस्त 2021
निष्ठा पूजा समय 11:59 PM से 12:44 AM
अवधी45 मिनट
दही हांडी मंगलवार 31 अगस्त 2021
अर्ध रात्रि काल 12:22 AM, 31 अगस्त 2021
चंद्रोदय समय11:35 PM

कृष्णा जन्माष्टमी 2021 तिथि 

अष्टमी तिथि शुरू11:25 PM  29 अगस्त
अष्टमी तिथि अंत01:59 AM 31 अगस्त

कृष्णा जन्माष्टमी 2021 नक्षत्र

रोहिणी नक्षत्र शुरू06:39 AM 30 अगस्त
रोहिणी नक्षत्र अंत09:44 AM 31 अगस्त

कृष्णा जन्माष्टमी 2021 मुहूर्त विभिन्न शहरों के लिए 

पुणे 12:12 AM से 12:58 AM 31 अगस्त
दिल्ली11:59 PM से 12:44 AM 31 अगस्त
चेन्नई 11:46 PM से 12:32 AM 31 अगस्त
जयपुर 12:05 AM से 12:50 AM 31 अगस्त
हैदराबाद11:54 PM से 12:40 AM 31 अगस्त
गुरुग्राम12:00 AM से 12:45 AM 31 अगस्त
चंडीगढ़12:01 AM से 12:46 AM 31 अगस्त
कोलकाता 11:14 PM से 12:00 PM 31 अगस्त
मुंबई 12:16 AM से 01:02 AM 31 अगस्त
अहमदाबाद12:18 AM से 01:03 AM 31 अगस्त

कृष्णा जन्माष्टमी 2021 राशिफल 

मेष- इस दिन गाय को मीठी वस्तुएं खिलाकर श्रीकृष्ण भगवान का पूजन करें.

वृष- इस राशि वाले लोग दूध व दही से श्रीकृष्णजी का भोग लगाएं. रसगुल्ले का भोग भी चढ़ाएं.

मिथुन- गाय को हरी घास या पालक खिलाएं और मिश्री का भोग लगाकर श्रीकृष्णजी का पूजन करें.

कर्क- जन्म अष्टमी के दिन माखन मिश्री मिलाकर लड्डू गोपाल को भोग लगाकर प्रसाद का वितरण करें.

सिंह– जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण भगवान को पंच मेवा का भोग लगाकर पूजन करें. बेल का फल भी अर्पित कर सकते हैं.

कन्या- इस राशि के लोग केसर मिश्रित दूध का भोग लगाकर श्रीकृष्णजी को अर्पित करें और गाय को रोटी खिलाएं.

तुला- भगवान श्रीकृष्ण को फलों का भोग लगाकर पूजन करें.और कलाकंद मिठाई का भोग लगाएं.

वृश्चिक- इस राशि के लोग मिश्री और  मावा भरकर गाय को खिलाएं और केसरिया चावलों का भगवान को भोग लगाएं.

धनु- जन्माष्टमी के दिन बादाम के  हलवे से केसर मिलाकर  वासुदेव को भोग लगाकर पूजन करें.

मकर- खसकस के दानों से मिलाकर धनियाब की पंजीरी श्री कृष्णजी का भोग लगाकर पूजन व अर्चना करें.

कुंभ- कृष्ण जी के पास  गुलाब की धूप जलाएं. बर्फी का भोग चढ़ाएं.

मीन- मीन राशि वाले प्रभु श्रीकृष्ण को जलेबी या केले का भोग लगाएं, हर समस्या दूर हो जाएगी.

और पढ़ें

Leave a Comment